Poem: प्रयागराज

उत्तर प्रदेश में कानून का राज हो गया
आखिर इलाहबाद अब प्रयागराज हो गया
सालों से ना हुआ वो विकास आज हो गया
आखिर इलाहबाद अब प्रयागराज हो गया
गुंडों से भयमुक्त पूरा समाज हो गया
आखिर इलाहबाद अब प्रयागराज हो गया
देखो जंगल में भी राम राज हो गया
आखिर इलाहबाद अब प्रयागराज हो गया